Khwab Shayari – कभी तुम्हारे ख्वाब आते है तो कभी तुम्हारी याद

Khwab Shayari – स्वागत है आपका RecipeHindi123.com पर| आज हम आपके लिए लेकर आये है khwab shayari in hindi collection. मोहब्बत में अक्सर हम मेहबूब के ख्वाब देखते है और उन ख्वाबों को रात के अँधेरे में, तन्हाई में जीते है| कुछ ख्वाब जुदाई के भी रहते है जिसमे मेहबूब की यादो को जीया जाता है| आज की शायरी भी इन्ही अलग अलग तरह के ख़्वाबों से जुड़ी है|

Khwab Shayari in hindi

# चलो अब आवाज़ दी जाए नींद को,
कुछ थके थके से ख्वाब मेरे लग रहे है..

# Chalo ab aawaz di jaaye neend ko,
kuch thake thake se khwab mere lag rahe hai..

# मोहब्बत की प्यास भी क्या ख्वाब दिखा देता है,
अजनबी चेहरे से भी रिश्ता बना देता है…

# Mohabbat ki pyas bhi kya khwab dikha deta hai,
Ajnabi chehre se bhi rishta bana deta hai..

2 line Khwab shayari

# बिन तुम्हारे अब हमे नींद भी नहीं आती,
शायद ख्वाब के बाद अब मेरी नींद भी अब तुम्हारी हो चुकी है..

# Bin tumhare ab hume neend bhi nahi aati,
shayad khwab ke baad ab meri nend bhi ab tumhari ho chuki hai..

# कभी तुम्हारे ख्वाब आते है तो कभी तुम्हारी याद आती है,
मुझे तड़पाने के तरीके तो तुम्हे बेहिसाब आते है..

# Kabhi tumhare khwab aate hai tou kabhi tumhari yaad aati hai,
mujhe tadpaane ke tarike tou tumhe behisaab aate hai..

Khwab Shayari in hindi

Adhure Khwab shayari in hindi

# सुना है मोहब्बत में नींद उड़ जाती है,
हमे भी आज़माना है,
क्योकि हमे नींद बहुत आती है…

# Suna hai mohabbat me neend ud jaati hai,
hume bhi aajmana hai,
kyoki hume neend bahut aati hai..

# तन्हाई में मुस्कुराना मोहब्बत है,
इस बात को उनसे छुपाना मोहब्बत है,
हर ख्वाब में अब वो आने लगे है,
अब तो जागते जागते सोना और सोते सोते जागना ही मोहब्बत है..

# Tanhai me muskurana mohabbat hai,
iss baat ko unse chupana mohabbat hai,
har khwab me ab wo aane lage hai,
ab tou jaagte jaagte sona aur sote sote jaagna hi mohabbt hai..

Shayari on Khwab

# वो दिल से ना जाये तो मैं क्या करू,
वो रूह से ना जाये तो मैं क्या करू,
सुना है ख्वाब में मुलाकात होती है मोहब्बत करने वालो की,
हमे उनकी याद में नींद ही ना आये तो मैं क्या करू..

# Wo dil se naa jaye tou main kya karu,
wo ruh se naa jaye tou main kya karu,
suna hai khwab me mulaqat hoti hai mohabbat karne walo ki,
hume unki yad me neend hi naa aaye tou kya karu..

Khwab shayari in hindi

# मैं दिन हूँ तो मेरी रात तुम,
मैं रूह हूँ तो मेरे ख्वाब तुम,
मेरा अस्तित्व तब है जब मेरे साथ तुम..

# Main din hu tou meri raat tum,
main ruh hu tou mere khwab tum,
mera astitv tab hai jab mere sath tum..

# अगर सब कुछ मिल ही जायेगा ज़िन्दगी में तो ख्वाहिश किसकी करोगे,
कुछ अधूरे ख्वाब ही ज़िन्दगी जीने का मज़ा देती है..

# Agar sab kuch mil hi jayega zindagi me tou khwahish kiski karoge,
kuch adhure khwab hi zindagi jeene ka maza deti hai..

# ख्याल, ख्वाहिशे और ख्वाब; सभी है तुझसे,
तुझे याद करने के लिए सिर्फ बहाना चाहिए बस !..

# Khayal, khwahishe aur khwab, sabhi hai tujhse,
tujhe yaad karne ke liye sirf bahana chahiye bas !..

Adhure Khwab shayari

# तुम्हारी यादो का रिश्ता मेरे ख्वाब से जुड़ा है,
खुदा करे ये रिश्ता यूं ही बरक़रार रहे..

# Tumhari yaado ka rishta mere khwab se juda hai,
khuda kare ye rishta yu hi barkarar rahe..

# अब तो ये आँखे भी मेरे हिसाब से नहीं चलती,
खुली रहती है तो ख्याल तेरे,
बंद रहती है तो ख्वाब तेरे..

# Ab tou ye aankhe bhi mere hisaab se nahi chalti,
khuli rehti hai tou khayal tere,
band rehti hai tou khwab tere..

# मुझे पता है की मेरे मोहब्बत के ख्वाब झूठे है,
और ख्वाहिशे अधूरी रह जानी है,
लेकिन कभी कभी ज़िन्दगी में कुछ गलतफ़हमिया भी जीने का मकसद देती है..

# Mujhe pata hai ki mere mohabbat ke khwab jhute hai,
aur khwahishe adhuri reh jaani hai,
lekin kabhi kabhi zindagi me kuch galatfehmiya bhi jeene ka maksad deti hai..

Armaan shayari in hindi